झारखण्ड केन्द्रीय विश्वविद्यालय में आपका स्वागत है ।

अखरा जनजातीय भारत अंतर्राष्ट्रीय महोत्सव 8 - 10 नवम्बर 2012 का सफल आयोजन

 

परिसर

विश्वविद्यालय का अस्थायी परिसर राँची शहर से 25 किलोमीटर दूरी पर ब्राम्बे में स्थित है । 45 एकड़ भूभाग में बना यह परिसर हरे-भरे पेड़ों से सुसज्जित है । विश्वविद्यालय का इरादा है कि विरासत में प्राप्त इस परिसर को एक भव्य वातावरण प्रदान कर जीवंत परिसर का निर्माण करें ।

अपनी परिवहन सेवाओं से ही विश्वविद्यालय शहर एवं परिसर के बीच आवागमन के सुविधा के अभाव को पूरा कर रहा है।

प्राकृतिक छटा से परिपूर्ण राँची शहर झारखण्ड का शैक्षणिक केन्द्र है जिसके र्इर्द-गिर्द अनेकों प्रतिष्ठित स्कूल, कॉलेज, उच्च शिक्षा संस्थान जैसे राँची विश्वविद्यालय, बिरला प्रौद्यगिकी संस्थान, नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फाउंड्री एवं फोर्ज प्रौद्योगिकी, केन्द्रीय मनश्चिकित्सा संस्थान, बिरसा कृषि विश्वविद्यालय, राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय तथा भारतीय प्रबंधन संस्थान स्थित हैं ।

झारखण्ड सरकार ने विश्वविद्यालय के स्थायी परिसर हेतु राँची के चेरी/मनातु गांव में भूमि आवंटित किया है। आवंटित भूमि पर ऐसे परिसर का निर्माण होगा जिससे विश्वविद्यालय के विद्यार्थी राष्ट्रीय तथा अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर गौरवान्वित होंगे और जब नए परिसर में कक्षाएँ आरंभ होंगी तब विद्यार्थियों को भी वहाँ ले जाया जाएगा और वे उस विश्वविद्यालय का हिस्सा बनेंगे जो विश्व का सर्वोत्तम विश्वविद्यालय बनने के लिए दृढ़संकल्प है।

राँची के बारे में

झारखण्ड की राजधानी राँची, देशान्तर 23.23 उत्तर और 85.23 पूर्व पर समुद्रतल से औसत 2140 फीट की ऊंचार्इ पर अवस्थित है। शरद ऋतु में राँची का तापमान सामान्यतः 5 डिग्री से. से 25 डिग्री से. और ग्रीष्म ऋतु का तापमान सामान्यतः 20 डिग्री से. से 42 डिग्री से. के बीच रहता है। औसत वार्षिक वर्षा 1530 मि.मी. है।